टीआई की प्रताड़ना से परेशान होकर महिला आरक्षक ने लगाई फांसी

0
2045

पुलिस अधीक्षक को सबकुछ बताया था लेकिन एसपी ने नहीं की मदद…

सांचौर/जालोर। सांचौर थाने में तैनात महिला कांस्टेबल गीता विश्नोई ने अपने सरकारी आवास में फांसी पर झूलकर आत्महत्या कर ली। सुसाइड नोट में उसने थानाधिकारी व एक अन्य महिला सिपाही पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है। गीता ने एसपी को भी शिकायत की थी परंतु एसपी ने उसकी कोई मदद नहीं की। इसके बाद प्रताड़ना और बढ़ गई। बाड़मेर जिले के धोरीमन्ना के चैनपुरा निवासी गीता विश्नोई सांचौर पुलिस थाने में कांस्टेबल के पद पर कार्यरत थी। गुरुवार को उसके कमरे से बाहर नहीं आने पर साथी महिला कांस्टेबल ने अन्य लोगों को सूचित किया। बाद में उसके कमरे अंदर प्रवेश करने पर पंखे से हुक से गीता का शव लटकते हुए मिला। गीता एक सुसाइड नोट भी छोड़ कर गई। इस सुसाइड नोट में गीता ने अपने थानाधिकारी पुष्पेन्द्र वर्मा व एक महिला कांस्टेबल केलम पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया। साथ ही उसने अपने माता-पिता, भाई-बहन व दोस्तों से माफी भी मांगी है।

पुलिस ने शव मोर्चरी में रखवा परिजनों को बुलाया। सांचौर पहुंचे मृतका के भाई ने थानाधिकारी व महिला कांस्टेबल सहित एक अन्य अधिकारी पर अपनी बहन को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि तीनों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाए। इसके बाद ही वे शव उठाएंगे। पुलिस अधीक्षक केसर सिंह भी मौके पर पहुंचे और गीता के परिजनों से समझाइश कर रहे है। बताया जा रहा है कि विभागीय अधिकारियों की तरफ से प्रताड़ित किए जाने से परेशान हो गीता ने कुछ दिन पूर्व जिला पुलिस अधीक्षक के समक्ष उपस्थित होकर अपनी पीड़ा बताई थी। उसने थाना बदलने के लिए आवेदन भी कर रखा था। आत्महत्या करने से पहले गीता आठ घंटे तक ड्यूटी देकर आई थी, लेकिन इसके बावजूद उसकी अनुपस्थिति लगा दी गई। इसके बाद वह ज्यादा परेशान हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here