चार दिन से घर मे सड़ रही थी अज्ञात लाश

0
517

बदबू से परेशान हो गए थे आसपास के लोग
चौकी प्रभारी, सरपंच और पंच ने किया अंतिम संस्कार

मण्डला/अंजनिया। देश-प्रदेश से लेकर जिले तक सरकार की नशाबंदी योजना असफल नजर आ रही है जहाँ आये दिन नशा की गिरफ्त में आने से लाखों लोंगो की जान जा रही है।नशा का शिकार जहाँ जिले में बच्चे, बूढे और यूवा वर्ग हो रहे है तो वहीं महिलाऐं भी इसका शिकार हो रहे हैं।शराब पीना सेहत के लिये हानिकारक माना जाता है ,आये दिन विज्ञापनों के माध्यम से सरकार व सामाजिक संस्थाओं द्वारा लोगो को जागरूक करने की कोशिशें करती रहती है । इसके बावजूद भी शराब की लत से लोग मौत के सागर में डूब जाते हैं । ऐसी ही एक घटना अंजनिया में घटित हुई । बिछिया संवाददाता विजय ठाकुर के द्वारा दी गए जानकारी के मुताबिक अरुण पटेल निवासी अंजनिया शराब का आदि था और अधिक मात्रा में शराब का सेवन करता था नतीजा यह निकला कि परिवार में सभी ने उसका साथ छोड़ दिया और अंत मे माँ ने कुछ दिन शराब पीने से रोका लेकिन वह अपने हरकतों से बाज न आता देख माँ ने भी उम्मीद छोड़ दी।
शराब पीने का नतीजा यह निकला कि अरुण पटेल पिता पुरषोत्तम पटेल उम्र 40 वर्ष शराब पीकर घर मे ही मौत के आगोश में समा गया । घर पर अकेला होने के कारण किसी को इस बात की भनक भी नही लगी , मामला तब सामने आया जब शव की बदबू से मोहल्ले वाले परेशान हो गये , बदबू इतनी घातक हो गयी कि पड़ोसी भी वहाँ जाने से कतराने लगे इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई जिसके पश्चात पुलिस घटना स्थल पर पहुँची तो सारा माजरा सबके सामने आ गया, शव पर कीड़े पड़ चुके थे और बदबू से अंजनिया क्षेत्र के वार्ड 20 के लोग परेशान हो चुके थे । बताया गया कि यह घटना की जब 03 से 04 दिन पहले ही इसकी मृत्यु हो चुकी थी । परिजनों के न होने के कारण किसी को इसकी भनक नही लगी इसके बाद पुलिस ने मृतक के परिजनों को सूचित किया जिसके बाद परिजनों के समय पर न आने पर बदबू व शव की स्थिति को देखते हुए अंजनिया थाना प्रभारी आनंद प्रकाश सिंह ठाकुर, सरपंच सुधीर मरावी, वार्ड मेम्बर नीलू उइके ने स्थानीय लोगो की मदद से मृतक के शव को पोस्ट मार्टम करवाने भेजा और मानवता का परिचय देते हुए अंतिम संस्कार के लिए लकड़ी से लेकर और अन्य आवश्यक व्यवस्थाएं स्वयं की और उसका अंतिम संस्कार किया ।
मृत शव पर कीड़े लगे होने व घातक बदबू आने के बाद भी अंजनिया चौकी प्रभारी आनंद प्रकाश सिंह ठाकुर, सरपंच सुधीर मरावी सहित अन्य लोगों ने ऐसी स्थिति में अंतिम संस्कार कर हर प्रकार का प्रयास करते हुए यह मिशाल पेश किया जो उन्होंने मानव समाज में एक सराहनीय भूमिका अदा की है।

इनका कहना है
मृतक बहुत ज्यादा शराब के नशे में था तथा उसके परिजन अपने इलाज के लिए जबलपुर गये हुए थे और इस बीच उसकी मृत्यु हो गई।
आनंद ठाकुर
चौंकी प्रभारी अंजनिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here