जापान में शहर का नाम रोशन कर लौटी शहर की बेटी

0
288

खबर दीपक तिवारी
जबलपुर। ज्ञान गंगा इंटरनेशनल स्कूल की छात्रा समीक्षा पटेल ने अमेरिकन फील्ड सर्विस यानी AFS प्रोग्राम के तहत जापान में आयोजित इंटर कल्चर प्रोग्राम में हिस्सा लिया। पूरे 6 महीने तक वह जापान में रही। ए एफ एस प्रोग्राम विद्यालय में अध्ययनरत विद्यार्थियों को एक देश से दूसरे देश में रहने का मौका प्रदान करता है। जिससे कि वे छात्र दूसरे देश की संस्कृति, सामाजिक, शैक्षणिक गतिविधियों से जुड़ सके साथ ही अंतरराष्ट्रीय शिक्षण व्यवस्था को समझने सकें। समीक्षा 19 अगस्त 2018 से 19 फरवरी 2019 तक जापान के एक जापानी परिवार में पारिवारिक सदस्य के रूप में रही। और उन्हें वहां उनके मेजबान माता पिता और तीन बहने साकी हारु और चिका मिलीं। जिनके साथ उन्होंने वहां अच्छा वक्त बिताया। वहां जीवन यापन के तरीके, शिक्षा व्यवस्था, खानपान के साथ शिष्टाचार के तरीकों से परिचित हुईं। इसके साथ-साथ जापानी भाषा भी उन्होंने सीखी। समीक्षा ने जापान और भारत के बीच सबसे बड़ा अंतर जो देखा वह था खानपान का जहां जापान के ज्यादातर लोग उबली सब्जियां और सीफूड खाकर रहते हैं। वही हमारे यहां फल फ्रूट और अनाज पर ज्यादा जोर दिया जाता है। उन्होंने वहां जापानी करि याकीसोबा बनाना सीखा साथ ही जापानी परिवार को भारतीय व्यंजन जैसे खीर, रोटी, सब्जियां, चाय इत्यादि बनाना भी सिखाया जो उन्हें बहुत पसंद आया। समीक्षा ने जापान के जिशुकान हाई स्कूल में पढ़ाई की जो कि जापान का दूसरे नंबर का सबसे बड़ा स्कूल है और 100 साल से भी पुराना है। उन्होंने हिरोशिमा की टूटी हुई इमारतें देखी जिन्हें अब संग्रहालय में बदल दिया गया है। समीक्षा ने बताया कि वहां का प्रसिद्ध त्योहार ओनी है जिसमें लोग एक दूसरे के ऊपर सफेद पाउडर डालकर बधाइयां देते हैं। जापान की संस्कृति एवं शैक्षणिक गतिविधियों से भलीभांति परिचित होकर समीक्षा आज अपने शहर लौट आई। ज्ञान गंगा स्कूल स्कूल में आयोजित एक पत्रकार वार्ता में पत्रकारों से बातचीत करते हुए यह सारी जानकारी दी। ज्ञान गंगा इंटरनेशनल स्कूल के प्राचार्य डॉ. राजेश कुमार चंदेल ने बताया कि समीक्षा के स्कूल की ब्रांड एम्बेसडर है, उन्होंने अपने जीवन में कुछ नया सीखा है उससे आने वाले वर्ष में और भी छात्रों को इस तरह के प्रोग्राम में हिस्सा लेने की प्रेरणा मिलती रहेगी। समीक्षा ने शाला के प्राचार्य डॉ राजेश कुमार चंदेल, डायरेक्टर डॉ नितिन जैन, शाला प्रबंधन समिति के प्रति अपना आभार व्यक्त किया जिनके कारण ही वे इस सुअवसर को प्राप्त कर सकीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here