मकर संक्रांतिः सूर्य की आराधना का दिन

0
44

बैतूल से सतीश मालवीय.आज मकर संक्रांति (Makar sankranti) है. सूर्य की आराधना का दिन. इस दिन सूर्य अपनी दिशा बदल कर उत्तरायण होता है. आज से शुभ काम शुरू होते हैं. पूरे भारत में यह पर्व अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग नामों से जाना जाता है और परंपरा के मुताबिक उत्सव मनाया जाता है. इस दिन लोग प्रमुख नदियों के तटों पर सूर्य की उपासना करते हैं. लेकिन, मध्य प्रदेश के बैतूल (Betul) में सूर्य के साथ सूर्य पुत्र और पुत्री की पूजा भी होती है. यहां एक ऐसा अनोखा मंदिर है, जिसे भाई बहन और सूर्य परिवार का मंदिर कहा जाता है. यह मंदिर बैतूल के खेड़ी में ताप्ती नदी के किनारे है. बैतूल के खेड़ी में ताप्ती नदी के किनारे एक ऐसा मंदिर है जो भाई बहन के मंदिर के नाम से प्रसिद्ध है. इस मंदिर में दो प्रतिमाएं हैं. एक ताप्ती की और दूसरी शनि भगवान की. ताप्ती को सूर्य पुत्री कहा जाता है. वहीं, शनि और यम, सूर्य के बेटे हैं. भगवान शनि और उनकी बहन ताप्ती देवी की यहां एक साथ उपासना होती है. इसलिए इसे भाई बहन के मंदिर का स्थान मिला है. स्थानीय लोग बताते हैं कि ये देश का एकमात्र भाई बहन का मंदिर है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here