ब्यौहारी के कपड़े गोदाम में भीषण आग लगने से अरबों का नुकसान

0
52

शहडोल। शहडोल जिला के व्यौहारी वनसुकली चौराहा के बगल में गणेश वस्त्रालय भारत होजरी कपड़े के थोक विक्रेता के गोदाम में लगभग सुबह के 10:00 बजे लगी भीषण आग पर 6 घंटे के बाद आग राहत पर हो पाया जिसकी बचाव के लिए राजस्व विभाग के अनुविभागीय अधिकारी व्यवहारी, तहसीलदार अमित मिश्रा व्यवहारी, व्यवहारी विधायक शरद कोल, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस श्रीमती उमा कांतीआर्मो, थाना व्यवहारी थाना प्रभारी अनिल पटेल एवं थाना व्यवहारी के लगभग 20 पुलिसकर्मियों सहित नगर पंचायत व्यवहारी के समस्त कर्मचारी एवं व्यवहारी के समस्त जनता बचाव के लिए भारी परिश्रम करते रहे लेकिन आग बुझा पाना नाकाम दिखते हुए व्यवहारी विधायक शरद कोल द्वारा उक्त घटना की सूचना कलेक्टर शहडोल को तत्काल दिए जिससे शहडोल कलेक्टर ललित कुमार दाहिमा द्वारा आग में काबू पाने के लिए शहडोल नगर पंचायत कि एक फायर ब्रिगेड एवं धनपुरी नगर पंचायत की फायर ब्रिगेड व्यवहारी के लिए रवाना किए एवं कलेक्टर ललित दाहिमा ने कलेक्टर सीधी को घटना के संबंध में अवगत कराते हुए सीधी जिले के नजदीकी मझौली नगर पंचायत से एक फायर ब्रिगेड मंगाए एवं जैसीनगर नगर पंचायत की फायर ब्रिगेड बाणसागर खाड की फायर ब्रिगेड व्यवहारी की फायर ब्रिगेड कुल 6 फायर ब्रिगेड इकट्ठा होकर एवं विशेष टीम शहडोल के माध्यम से 6 घंटे के बाद आग को काबू पाने में सफल हुई । आग लगना जब पता लगा जब लगभग 10:00 बजे सुबह नजदीकी दुकानदारों के द्वारा देखा गया की भारत होजरी के गोदाम तरफ से धुआ आ रहा था तभी नजदीकी दुकानदारों के द्वारा तुरंत ही थाना व्यवहारी नगर पंचायत ब्योहारी एवं स्थानीय आसपास लोगों को तत्काल जानकारी देने से हो पाया
आग लगभग 11:00 बजे से इतनी तेजी से पकड़ लिया जिससे स्थानीय लोगों के द्वारा बचा पाना मुश्किल देखा जा रहा था एवं आग इतनी जबरदस्त लगने से यह माना जा रहा था की आसपास के अन्य दुकान भी प्रभावित होने की संभावना दिख रहा था जिससे प्रशासन एवं व्यवहारी की समस्त जनता के अथक प्रयासों से करीब 4:00 बजे शाम तक आग को रोक पाने में सफलता हासिल किए है एवं भारत होजरी के गोदाम के अलावा आसपास के दुकानों की किसी भी प्रकार से नुकसान नहीं हो पाया ।

गणेश वस्त्रालय भारत होजरी करता था होलसेल का काम।

व्यवहारी के स्थानीय दुकानदारों के द्वारा जानकारी दिया गया की गणेश वस्त्रालय भारत होजरी एक बहुत बड़ा होलसेल का काम करता था इनका व्यापार शहडोल, जैसीनगर ,सीधी, बन सुकली, जैसीनगर ,पपौध, बाणसागर, मझौली, व्यवहारी जैसे जगहों का कपड़े के समस्त आइटम एवं तिरपाल के थोक एवं होलसेल विक्रेता के रूप में करते थे बिक्री। अनुमान लगाया जा रहा है आग लगने से लगभग अरबों का नुकसान माना जा रहा है।।

संवाददाता राजेश पटेल की रिपोर्ट ।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here